DGP साहब ! IG का भी आदेश नहीं मानती इटावा की सिविल लाइन POLICE !

SSP ETAWAH

अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का इरदे हैं नेक हौसला है बुल्नद, और बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो फोन 9971662786 Email - indiaa2znewsdelhi@gmail.com पर भेजे या वाट्सअप 8076748909, पर संपर्क करें। ए 2 जेड समाचार वेब में छपे समाचारों व लेखों में सम्पादक की सहमति होना आवश्यक नहीं है। समाचार एवं लेखों का उत्तरदायी स्वयं लेखक होगा। मों. न.-9971662786

आखिर आरोपी सपा नेता के आगे क्यों नतमस्तक है खाकी ?

न्याय न मिला तो आत्महत्या कर लेगा पीड़ित

ए.आर.उस्मानी / चंचल दुबे
इटावा। सपा की सत्ता चली गई, लेकिन POLICE पर आज भी इनका रसूख कायम है। आलम यह है कि पुलिस इनके सामने घुटने टेक कर खाकी को शर्मसार करके अपराधियों को सलाखों के पीछे डालने के बजाय खुद उनकी रक्षक बनी हुई है। ताजा मामला इटावा जिले की सिविल लाइन पुलिस से जुड़ा हुआ है। यहां के एक व्यक्ति का एक सपा नेता ने जीना हराम कर रखा है। वह अपने रसूख के बल पर कर्ज लिए रूपये को किसी भी दशा में उसे वापस नहीं करना चाहता है। हद तो यह है कि उसकी इस साजिश में सिविल लाइन पुलिस भी भागीदार बतायी जाती है। स्थिति इतनी बदतर है कि रूपयों की लालच में पुलिस सीएम योगी आदित्यनाथ की नीतियों तथा उनकी मंशा को भी ठुकरा चुकी है। वह सपा के इस दबंग नेता को बचाने के लिए पीड़ित पर ही फर्जी मुकदमा दर्ज़ कर उसे आत्महत्या करने के लिए विवश कर रही है।
     


    

          सपा नेता के चरणों में घुटने टेक कर पुलिस द्वारा पीड़ित को ही प्रताड़ित करने की यह घृणित दास्तान इटावा जिसे की है, जहां के जसवंत नगर निवासी समाजवादी पार्टी के सभासद सौरभ शुक्ला की तूती क्षेत्र में इस कदर बोलती है कि इटावा की पुलिस उसकी जी – हुजूरी में नतमस्तक रहती है और उसी के इशारे पर कानून का डंडा भाँजती है, जिसका जीता जागता प्रमाण बैजल कालोनी इटावा के संजय कुमार दूबे पुत्र इंदू प्रकाश दूबे हैं, जिनकी जिंदगी को कटरा पुरवा, जसवंत नगर निवासी दबंग सपा सभासद सौरभ शुक्ला ने नरक बना रखा है। संजय कुमार दूबे का आरोप है कि सौरभ शुक्ल कई वर्षों से उसके परिवार व बेटियों को फ़ोन पर गाली देता है और मानवता को शर्मसार कर बेटी के मोबाइल पर अश्लील मैसेज करता है,

इस वीडियो में पीड़ित SO से कहता है कि वह आत्महत्या कर लेगा

            जिससे मानसिक रूप से सम्पूर्ण परिवार ग्रसित है। उन्होंने ‘इण्डिया ए टू जेड न्यूज़’ से मुलाकात के दौरान बताया कि उसकी बेटी चंचल दुबे को बेखौफ सपा नेता सौरभ ने गाड़ी से टकराकर जान से मारने की भी कोशिश की। इससे भी जब जी न भरा, तो उसके ऊपर तेजाब फेंका गया। उसने बताया कि 6 मई 2017 को जब थाना सिविल लाइन में तहसील दिवस पर उक्त प्रकरण की तहरीर देकर वह वापस किसी कार्यवश इनकम टैेक्स कार्यालय जा रहा था, तो दबंग सौरभ शुक्ला ने अपने कई साथियों के साथ मिलकर उस पर फायरिंग करते हुए जानलेवा हमला कर दिया। किसी तरह जान बचा कर उसने सिविल लाइन पुलिस स्टेशन के थानाध्यक्ष को सूचित किया। इस प्रकरण में सिविल लाइन पुलिस द्वारा सौरभ के विरुद्ध 307 व 504 आईपीसी का मुकदमा दर्ज़ किया गया, जो केवल पुलिस की फाइलों में ही रेंगता रहा।
       

       इस मामले को लेकर पीड़ित परिवार IG जोन कानपुर अविनाश चन्द्र स मिला और उन्हें पूरे प्रकरण तथा इटावा की सिविल लाइन पुलिस की निरंकुशता से अवगत कराया। पीड़ित परिवार ने आईजी जोन से न्याय की भीख मांगी, साथ ही चेतावनी भी दी कि यदि उसे न्याय न मिला तो वह आत्महत्या कर लेगा, जिसकी सारी जिम्मेदारी इटावा पुलिस प्रशासन व सिविल लाइन थानाध्यक्ष की होगी। इस मामले को आईजी जोन ने गंभीरता से लिया और इटावा पुलिस को तत्काल कार्रवाई का आदेश दिया। लेकिन बेलगाम पुलिस ने उनके भी आदेश को ठेंगा दिखा दिया। हद तो यह है कि एसएसपी भी इस प्रकरण में कार्यवाही करने की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं। अब सवाल यह उठता है कि जब आईपीएस ऑफिसर दबंग सपा नेता पर कार्रवाई करने से हाथ खड़ा कर देगा, तब इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर की क्या मजाल है ?

POLICE की पनाहों में पनप रहा है घृणित खेल

           कहावत है कानून के हाथ काफी लंबे होते हैं। इसकी गिरफ्त से अपराधी बच नहीं सकते, मगर यहां तो आरोपी सपा नेता पर तीन साल में 5 आपराधिक  मुक़दमे क्रमशः  221/15, 700/15, 352/16,139/17, व 236/17 के अन्तर्गत विभिन्न धाराओं में दर्ज किए गए। इतने मुकदमों में आरोपी होने के बावजूद आरोपी खाकी की पनाहों में रहकर घृणित काले कारनामों को अंजाम दे रहा है और इटावा की दागदार पुलिस सपाई नेता होने के कारण सौरभ शुक्ला की ही नुमाइंदगी कर रही है। इंतिहा तो यह है कि एसएसपी भी कानों में तेल डाले हुए हैं।

IG जोन का फरमान भी बेअसर

          पीड़ित संजय कुमार दूबे ने पूरे प्रकरण को 24 मई 2017 को आईजी जोन के समक्ष रखा। उन्हें पूरे मामले से अवगत कराया, जिसे गंभीरता से लेते हुए आईजी जोन अविनाश ने एसएसपी इटावा को जांच कर आरोपी सौरभ शुक्ला को गिरफ्तार करने का फरमान जारी किया, मगर उनका फरमान भी यहाँ टूट कर बिखर गया। बेलगाम पुलिस ने उनके भी आदेश को ठेंगा दिखा दिया। इसका परिणाम यह है कि दबंग सपा नेता द्वारा पीड़ित व उसके परिवार को अब भी धमकियां मिल रही हैं, जिससे वह काफी डरा सहमा हुआ है। पूरा परिवार दहशत के साये में जीने को विवश है। यहाँ सवाल यह उठता है कि जब कानून के नुमाइंदे ही कानून से खिलवाड़ करेंगे तो पीड़ितों की रक्षा कौन करेगा ?

अब योगी के दरबार पहुंचेगा इटावा का प्रकरण

              कानून से खिलवाड़ करने वाली इटावा की पुलिस से पीड़ित का विश्वास उठ चुका है। अब न्याय की उम्मीद लेकर पीड़ित संजय दुबे परिवार के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दरबार में जाएगा। पीड़ित ने बताया कि उसे सीएम योगी आदित्यनाथ पर पूर्ण विश्वास है। उसे वहां उसके इन्साफ की झोली में न्याय की भीख अवश्य मिलेगी।

            ‘इण्डिया ए टू जेड न्यूज़’ द्वारा प्रकाशीत समाचार सीएम सर ! सपाई गुण्डे से मुझे बचा लीजिए प्लीज़ ! को मुख्यमन्त्री कार्यलाय द्वारा संज्ञान में लेने के बावजूद आखिर आरोपी सपा नेता के आगे क्यों नतमस्तक है खाकी ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *