एक्शन में सीएम योगी : 11 अफसरों को किए सस्पेंड

अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का इरदे हैं नेक हौसला है बुल्नद, और बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो फोन 9971662786 Email - indiaa2znewsdelhi@gmail.com पर भेजे या वाट्सअप 8076748909, पर संपर्क करें। ए 2 जेड समाचार वेब में छपे समाचारों व लेखों में सम्पादक की सहमति होना आवश्यक नहीं है। समाचार एवं लेखों का उत्तरदायी स्वयं लेखक होगा। मों. न.-9971662786

अब चेतावनी नहीं निलंबन होगा : मुख्यमंत्री

ए.आर.उस्मानी / राजन पाण्डेय
महाराजगंज। पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के बीच ऐलान किया था कि अब सिर्फ एक्शन होगा। इस एक्शन की शुरुआत सीएम योगी ने महाराजगंज दौरे से शुरू कर दी है। सीएम ने गुरुवार को कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में 11 अफसरों को निलंबित कर दिया, जबकि 7 के तबादले का फरमान सुना दिया। सीएम के इस एक्शन के बाद अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।



      सीएम योगी आदित्यनाथ ने एसओ पुरंदपुर विनोद कुमार राय, एसओ फरेंदा चंद्रेश यादव, एसडीएम गिरीश चंद्र श्रीवास्तव, बीडीओ संजय श्रीवास्तव, एएओ बेसिक रवि सिंह, जिला कृषि अधिकार मोहम्मद मुजम्मिल, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी बीएन ओझा, डॉ अरशद कमाल, और डॉ ठाकुर शैलेश कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया है। वहीं जिन सात अधिकारियो के तबादले किए गए हैं, उनमें डीसीएनआरएनएम अशोक कुमार मौर्या, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी गायत्री देवी, एएमएएसओ ज्ञानेंद्र कुमार सिंह, डीएसओ अतिमत तिवारी, एसओ पनियारा सुधीर कुमार सिंह, एसओ श्याम देवरवा श्रीकांत राय और एसओ कोठीभार रमाकांत यादव का तबादला कर दिया गया है। सीएम योगी ने कहा कि चार महीने बाद भी ये अधिकारी सुधर नहीं रहे थे।  कार्यों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. सीएम ने जिले में 4 माह से गायब चल रहे सभी डॉक्टरों के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए। साथ ही सीएम ने निजी प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों से जांच के बाद रिकवरी के आदेश दिए। सीएम ने कहा कि जांच के बाद लापरवाही मिलने पर सैलरी रिकवरी भी हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *