गोण्डा में बेलगाम बदमाशों ने दिनदहाड़े गॉर्ड की हत्याकर बैंक से 50 लाख लूटे

अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का इरदे हैं नेक हौसला है बुल्नद, और बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो फोन 9971662786 Email - indiaa2znewsdelhi@gmail.com पर भेजे या वाट्सअप 8076748909, पर संपर्क करें। ए 2 जेड समाचार वेब में छपे समाचारों व लेखों में सम्पादक की सहमति होना आवश्यक नहीं है। समाचार एवं लेखों का उत्तरदायी स्वयं लेखक होगा। मों. न.-9971662786

डीआईजी ने घटनास्थल का दौरा कर लुटेरों की शीघ्र गिरफ्तारी के दिए निर्देश

कानून व्यवस्था पर उठे सवाल, वारदात के बाद लकीर पीट रही पुलिस

ए.आर.उस्मानी
गोण्डा। नगर कोतवाली क्षेत्र के स्टेशन रोड पर स्थित इलाहाबाद बैंक की रानी बाजार शाखा में आज दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने गार्ड की हत्या कर 50 लाख रुपये से भरे कैश बॉक्स को लूट लिया और फायरिंग करते हुए फरार हो गए। दिनदहाड़े हुई लूट की इस  वारदात से इलाके में सनसनी फैल गयी। एसपी ने शहर की नाकेबंदी के साथ ही बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दी है।



     इलाहाबाद बैंक की रानी बाजार शाखा में मंगलवार को  शाम 5 बजे बक्से में भरकर रुपया करेंसी चेस्ट में रखने के लिए रोडवेज बस स्टैंड के पास स्थित बैंक की मुख्य शाखा ले जाया जा रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गॉर्ड सादिक अली के साथ कर्मचारी जैसे ही बक्सा लेकर बैंक से बाहर निकला, पहले से ही घात लगाए बाइक सवार दो बदमाशों ने बक्सा छीनने का प्रयास किया। छीनने में असफल रहे बदमाशों ने गॉर्ड सादिक (40 वर्ष) को गोली मार दी और बक्सा लेकर फरार हो गए। गॉर्ड की मौके पर ही मंत हो गई। बैंक मैनेजर के अनुसार करेंसी चेस्ट के लिए पचास लाख रुपए ले जाए जा रहे थे।
      शहर के सबसे व्यस्त इलाके में दिनदहाड़े हुई लूट की इस दुस्साहसिक घटना से सनसनी फैल गई। घटनास्थल का डीआईजी एके राय ने भी दौरा किया और गहन जांच पड़ताल की। उन्होंने लुटेरों की शीघ्र गिरफ्तारी के निर्देश दिए। डीआईजी ने बैंक कर्मचारियों से पूछताछ की और सीसीटीवी कैमरे के फुटेज भी खंगाले।
पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह ने बताया कि 50 लाख रुपए की लूट हुई है। लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच के साथ ही कई टीमें गठित कर लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि पहले भी इलाहाबाद बैंक की विभिन्न शाखाओं से लूट की तीन  घटनाएं हो चुकी हैं। इसलिए पिछले रिकॉर्ड को भी खंगाला जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *