गोंडा के सिनेमाघरों में नहीं चलेगी संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ !

अगर आप में है जज्बा सत्य को खोज कर सामने लाने का इरदे हैं नेक हौसला है बुल्नद, और बनना चाहते हैं सच्चे कलम के सिपाही करना चाहते हैं राष्ट्र सेवा तो फोन 9971662786 Email - indiaa2znewsdelhi@gmail.com पर भेजे या वाट्सअप 8076748909, पर संपर्क करें। ए 2 जेड समाचार वेब में छपे समाचारों व लेखों में सम्पादक की सहमति होना आवश्यक नहीं है। समाचार एवं लेखों का उत्तरदायी स्वयं लेखक होगा। मों. न.-9971662786

अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद ने महारानी पद्मावती पर आधारित फिल्म पर जताया विरोध

ए.आर.उस्मानी
गोण्डा। प्रख्यात फिल्म निर्माता संजयलीला भंसाली की फिल्म पद्मावती विवादों में घिर गई है। बुधवार को यहां अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद ने विरोध प्रदर्शन किया और चेतावनी देते हुए कहा कि जिले में इस फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा। क्षत्रिय परिषद का आरोप है कि इस फिल्म में  महारानी पद्मावती सहित कई अन्य कैरेक्टरों के चरित्र को इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर, तथ्यों से हटकर अमर्यादित व आपत्तिजनक तरीके से चित्रित किया गया है, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।



     बुधवार को अखिल भारतीय क्षत्रिय कल्याण परिषद द्वारा गांधी पार्क में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना दिया गया। धरने के बाद वहां से पैदल मार्च करते हुए कलेक्ट्रेट गेट पर जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में मौजूद नगर मजिस्ट्रेट को प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया। इसका नेतृत्व परिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अवधेश सिंह ने किया। कार्यक्रम का संयोजन परिषद् के प्रदेश सचिव सुभाष सिंह ने किया। अपने सम्बोधन में अवधेश सिंह ने कहा कि मेवाड़ की महारानी पदमावती ने 16 हजार नारियों के साथ जौहर व्रत लिया था। इसे संजय लीला भंसाली द्वारा फिल्म में अमर्यादित ढंग से दर्शाकर पूरे क्षत्रिय समाज का अपमान किया है। इसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा। प्रदेश सचिव सुभाष सिंह ने कहा कि रानी पदमावती के सम्मान के लिए राजपूत समाज सड़क पर उतर चुका है। जिले के किसी भी टाकीज में फिल्म नहीं चलने दिया जाएगा। सौंपे गए मांगपत्र में फिल्म पदमावती के प्रसारण पर रोक लगाने, फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ पर विधिक कार्यवाही करने, फिल्म के प्रसारण की अनुमति देने वाले सेंसर बोर्ड के अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही तथा लेखक, निर्माता, निर्देशक व संपादक के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की मांग शामिल है।
      

    इस मौके पर जिला अध्यक्ष डा. आरबी सिंह बघेल, अशोक सिंह, हनुमान सिंह, केबी सिंह, माधवराज सिंह, केडी सिंह, अखण्ड सिंह, अमित सिंह, रणंजय सिंह, हरि सिंह बादल, डा. उमा सिंह, डा. एके सिंह, जसवंत सिंह, मुन्नू सिंह, अरविन्द सिंह, अनिल सिंह, संतोष सिंह, सुरेन्द्र सिंह, विवेक सिंह, सर्वेन्द्र सिंह, आम आदमी पार्टी के अभिषेक गोस्वामी, शिवाकांत, भारतीय जन मानस पार्टी के प्रदेश संगठन मंत्री राघवेन्द्र मिश्र, अनिल मिश्र, अंकिता सोनी, पिंकी समेत सैकड़ों लोग मौजूद रहे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *